राष्ट्र की आवाज

बरैनी गांव में सेवा सिंह के छत के उपर से बिजली का एलटी तार ।

0

यूपी सरकार की लापरवाही से लटकते बिजली के तार से हो सकता है बड़ा हादसा,

पवन उपाध्याय/  कछवा नगर सहीत ग्रामीण क्षेत्रों में जगह-जगह बिजली के तारों का मकड़जाल बिछा है। ये लटके तार लोगों के लिए मुसीबत बने हुए हैं। आए दिन इन लटके तारों में फाल्ट होते रहते हैं जो हादसों को न्योता दे रहे हैं। बरैनी गांव में सेवा सिंह के घर के पास घर और सड़क पर  बिजली के लटकते तार हादसें को न्योता दे रहें हैं। कई बार ये लटकते तार हादसों को अंजाम दे चुके हैं। जहा लोग बिजली के लटके तारों से परेशान है, वहीं फाल्ट होने से जान जोखिम का अंदेशा बना हुआ है। कई बार शिकायतें की लेकिन कोई सुनवाई नहीं होती। अहम बात तो यह है कि ये तारों का मकड़जाल या तो लकड़ी के बास-बल्ली के सहारे बिछा है या घर, मकान व धार्मिक स्थलों के दरवाजों से होकर गुजर रहे हैं। सेवा सिंह ने बताया कि पोल से बिजली की लाइन भी इतनी नीची लटकी है कि चलता आदमी हाथ से भी छू सकता है। एक ओर ग्रामीण बिजली कट से परेशान हैं, वहीं दूसरी ओर ये लटके तार खासकर मोहल्ले में रहने वालों के लिए मुसीबत है। गांव के कई रास्तों पर बिजली के लटके तार देखे जाते हैं। बिजली विभाग जेई उमेश कुमार चौरसिया का कहना है इन लटके तारों को सही करने के लिए ग्रामीण भी कम दोषी नहीं है। कई लोग तो पोल तक गाड़ने नहीं देते। फिर कैसे बिछाए तारे। पुराने पोलों के सहारे ही गांव में बिजली की आपूर्ति है या फिर जगह-जगह वैकल्पिक व्यवस्था की हुई है। खैर विभागीय अधिकारी भले ही कोई बहानेबाजी करते हो। पर लोगों को व्यापक व्यवस्था से बिजली मुहैया कराना उनका दायित्व बनता है। लोग बिजली विभाग के कर्मचारियों की लापरवाही मानते हैं। ग्रामीण बिपीन सिंह का कहना है कि यदि विभाग सही तरीके से गावों में बिजली की आपूर्ति व्यवस्था करे तो इन जर्जर लटके तारों से लोगों को निजात मिल सकती है और जल्द ही विभाग नहीं चेता तो कोई बड़ा हादसा हो सकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.